Viral news: ताबूत में बंद ममी का दुनिया को संदेश हुआ डिकोड

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

गोरखपुर के नजदीक ASI की खुदाई चल रही थी। वहां एक ममी पाई गई जो बिल्कुल मिस्री परम्परा के मुताबिक बनाई हुई थी।

भारत के इतिहास में ममी का मिलना अपने आपमे एक नई घटना थी जिससे इतिहास के नए तथ्यों पर प्रकाश पड़ता।

चार फुट की उस ममी के साथ उसके दैनिक उपयोग के सामान थे। ममी को संग्रहालय में रखने की तैयारी हो रही थी। इसके पहले तमाम परीक्षण हो रहे थे। तभी नोटिस किया गया कि ममी के आसपास सूक्ष्म आवृत्ति की ध्वनियां प्रसारित हो रही हैं.

Viral news
Viral news

शुरू में इन ध्वनियों को किसी आसपास के इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट का कम्पन समझा गया। पर शीघ्र ही वैज्ञानिकों की एक टीम इस मामले में दिलचस्पी लेने लगी।

ध्वनियों को रिकार्ड किया गया और सैम्पल को ASI के अधिकारियों और पुरातत्वविदों ने संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, चीन के वैज्ञानिकों से साझा किया गया।

सभी देशों ने विलक्षण ममी के परीक्षण के लिए अपने शीर्ष वैज्ञानिक भारत भेजे। ये ध्वनियाँ बहुत सूक्ष्म आवृत्ति की थीं जिनकी आवृत्ति 30 हर्ट्ज से कम थी जिन्हें केवल उच्च गुणवत्ता वाले ध्वनि उपकरणों द्वारा सुना जा सकता था.

मिस्र में पुरात्तवविदों ने 2500 साल पहले सील किया गया एक ममी ताबूत खोला है. इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो को कई लाख व्यूज और लाखों की संख्या में लाइक्स मिल चुके हैं.

मिस्र में पुरातत्वविदों ने लाइव ऑडियंस के सामने एक प्राचीन ममी ताबूत को खोलकर सनसनी फैला दी है. पुरातत्वविदों के ताबूत खोलने का वीडियो सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हो रहा है. ग्लोबल न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, साल की शुरुआत में ही 59 सीलबंद सरकोफेगी मिले थे.

Read More  Anti Incumbency: पीएम मोदी के खिलाफ एंटी इन्कंबैंसी दिखने लगी

इनमे से एक को साककारा में दर्जनों से ज्यादा लोगों की मौजूदगी में खोला गया था. साककारा मिस्र का एक विशाल, प्राचीन दफन मैदान है. यह मेम्फिस के प्राचीन शहर के नेक्रोपोलिस के रूप में कार्य करता है.

Viral news: खोजे गए कुओं के भीतर दफन 59 ताबूत 

मिस्र के पर्यटन और पुरावशेष मंत्रालय द्वारा एक बयान जारी कर कहा गया है कि साककारा के पुरातत्व क्षेत्र में दफन कुओं के भीतर 59 लकड़ी के ताबूतों की खोज की गई थी. लकड़ी के ताबूत अच्छी स्थिति में हैं और इसमे मिस्र के प्रीस्ट समुदाय के प्रतिष्ठित सदस्यों और अन्य वरिष्ठ लोगों के शव शामिल है.

शनिवार को इन ताबूतों में से एक को पहली बार खोला गया था,जो कि तकरीबन ढाई हजार वर्ष पहले सील किया गया था. पर्यटन और पुरावशेष मंत्रालय के होस्ट किए गए अनसोल्ड का एक वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. यह ताबूत के अंदर एक ममी को दर्शाता है, जो अलंकृत दफन कपड़े में लिपटा हुआ है.

Viral news: वीडियो को 10 मिलियन से ज्यादा मिले व्यूज

ट्विटर पर ये वीडियो 5 अक्टूबर को शेयर किया गया था, जिसके अब तक 10 मिलियन से ज्यादा व्यूज भी हो चुके हैं. वहीं वीडियो को लाखो से ज्यादा लाइक्स मिल चुके हैं और 72 हजार से ज्यादा री-ट्वीट्स भी हो चुके हैं.

Also Read: UPSC CSE Result: सिरसा की कोमल गर्ग का 221 वाँ रैंक रहा है

हालांकि माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म पर कई लोगों ने वीडियो का मजाक भी उडाया और कहा कि सहस्राब्दी पुराना ताबूत खोलना शायद साल 2020 में कार्रवाई का सबसे अच्छा कोर्स न हो. नेशनल ज्योग्राफिक के मुताबिक, ‘ पॉप संस्कृति और लोककथाओं ने इस धारणा को बनाए रखा है कि ममी की कब्र खोलने से मौतें और अभिशाप होते हैं.’

Read More  Dushyant chotala: पूर्व डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने भाजपा-कांग्रेस के सांसदों को लेकर कही ये बड़ी बात?

Viral news: संग्रहालय में स्थानांतरित किए जाएंगे ताबूत

मिस्र में न्यूजीलैंड के राजदूत ग्रेग लुईस ने भी ट्विटर पर शनिवार को वीडियो शेयर किया था. वहीं मिस्र के पर्यटन और पुरावशेष मंत्रालय की और से प्रेस रिलीज जारी कर जानकारी दी गई कि साककारा में शुरू में 13 ताबूत के साथ तीन कुओं को खोजा गया था. इसके बाद एक और 14 ताबूतों की खोज हुई, इस तरह ताबूतों की कुल संख्या 59 हो गई हैं. ताबूतों को प्रदर्शन के लिए अब गीज़ा में नए ग्रैंड मिस्र संग्रहालय में स्थानांतरित किए जाने की तैयारी की जा रही है.

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button