नितिन गडकरी ने इस इंटेरव्यू मे अपने बेटे के लिए काही ये बड़ी बात…देखे

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

नितिन गडकरी, हाल ही मैं  नितिन गडकरी ने एक इंटरव्यू दिया है जिसमे उन्होंनेअपने बेटे को लेकर राजनीति मे आने को लेकर बड़ी बात काही है। आइए जानते है पूरी कहानी ।। आप उनका नीचे वो कमाल का इंटरव्यू भी सुने..

 

नितिन गडकरी ने कहा की मेरा बेटा अगर राजनीति में आना चाहता है तो आए लेकिन पहले उसे चूना लगाना, पोस्टर लगाना होगा मेरी तरह ,

मेरे नाम का इस्तेमाल कर के सीधा टॉप पोस्ट पर मैं नहीं आने दूंगा ,

मेरी संपत्ति पर मेरे बच्चों का अधिकार जरूर है,

लेकिन मेरी राजनीतिक विरासत पर मेरे कार्यकर्ताओं का अधिकार है ,

जिस पार्टी ने मुझे बड़ा किया उसका अधिकार है  – नितिन गडकरी

 

नितिन गडकरी, मेरे पुत्र को यदि राजनीति में उतरना है, तो उसे पहले उसे कठिन दौर से सामना करना होगा। चुनौतीपूर्ण राजनीति में बढ़ने के लिए, वह नीतियों की गहराईयों में खोज करनी होगा, जो समाज के रूपरेखा में एक नई दिशा प्रदान कर सकती हैं।

मेरे नाम का इस्तेमाल करके ही सीधे पोस्टरों को अंगीकृत करना उसका दर्शनीय साहस होगा। इससे उसकी उपस्थिति को बढ़ावा मिलेगा, परंतु यह भी एक विशेष रूप से बुना हुआ और सोचपूर्ण रूप से प्रस्तुत किया जाएगा।

मेरी संपत्ति पर मेरे बच्चों का अधिकार है, लेकिन राजनीतिक विरासत पर मेरे कार्यकर्ताओं का भी अधिकार है। इस तंत्र में, उन्हें अपने अभिवादन के साथ मेरी सोच और उनकी अपनी दृष्टिकोण का सामंजस्य साधारित करने का कठिन कार्य होगा।

“जिस पार्टी ने मुझे बड़ा किया, उसका अधिकार है,” यह वक्तव्य नितिन गडकरी की नीतिगत सोच को संक्षेपित रूप से प्रस्तुत करता है, लेकिन इसमें एक गहराई है जो उसके राजनीतिक संबंधों को समझने के लिए विशेष दृष्टिकोण का आवश्यकता होती है। यह स्वभाव से भरपूर, लेकिन समझदारी से लबारिश है।

Read More  बीजेपी के जुमलों को भली प्रकार से समझ चुकी है जनता: कुमारी सैलजा

” title=”नितिन गडकरी का viral इंटरव्यू”>नितिन गडकरी

 

नितिन गडकरी का ये विचार दिखाता है कि राजनीतिक पथ पर आगे बढ़ने के लिए नेतृत्व के माध्यम से आत्मविश्वास रखना महत्वपूर्ण है। इसने स्पष्ट रूप से अपनी वृद्धि को उस पार्टी से जोड़ा है, जिसने उसे बढ़ावा दिया है।

राजनीतिक विरासत पर कार्यकर्ताओं का अधिकार बनाए रखना भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह सुनिश्चित करेगा कि उनकी आवश्यकताओं और उत्साह को समझा जा रहा है। एक स्थिर और संगठित रूप में, यह सुनिश्चित करेगा कि राजनीतिक विरासत का आनंद भी किया जा रहा है और यह समृद्धि को साधारित करने में मदद करेगा।

राजनीतिक मामलों में सही और सही फैसले करने के लिए एक विवेचनात्मक दृष्टिकोण रखना भी आवश्यक है। इसमें समझदारी, विश्लेषण, और सामग्री की सही मात्रा में परिस्थितियों को विश्लेषित करने की क्षमता शामिल है।

इस प्रकार का सोचने का तरीका, जिसमें अद्वितीयता और साहस का संगम है, समाज के साथ अच्छे संबंध स्थापित कर सकता है। नेतृत्व में यह दृष्टिकोण रखना, विचारशीलता को प्रोत्साहित करने और सामाजिक न्याय के प्रति प्रतिबद्ध रहने का संकेत कर सकता है।

इस सभी को मिलाकर, राजनीतिक गतिविधियों में परिप्रेक्ष्य और बर्स्टनेस को बढ़ावा देना, एक सशक्त और समृद्धिपूर्ण राजनीतिक दृष्टिकोण का निर्माण कर सकता है। यह एक समृद्धि भरे और चुनौतीपूर्ण राजनीतिक माहौल को बढ़ावा देगा, जिससे समाज को लाभ होगा और एक सशक्त राष्ट्र की दिशा में प्रगति होगी।

Read More  Election Survey 2024: लोकसभा, विधानसभा चुनाव से प्रदेश सरकार का बच सकता है आधा खर्च

इस नए दौर में, राजनीतिक नेतृत्व को सही दिशा में ले जाने के लिए एक सुचना-भरी राजनीतिक दृष्टिकोण आवश्यक है। नितिन गडकरी के विचार दिखाते हैं कि एक नेता को सिर्फ अपने आत्मविश्वास से ही नहीं, बल्कि विश्व को उम्मीद और विश्वास के साथ आगे बढ़ने की आवश्यकता है।

राजनीतिक परिदृश्य को गहराई से समझने की क्षमता और तार्किक निर्णय लेने का यह उच्च स्तरीय सोचने का तरीका, समाज को स्वयंसिद्ध करने के लिए एक माध्यम प्रदान कर सकता है। इससे राजनीतिक विकास में नई दिशा मिल सकती है, जिसमें जनता को साकारात्मक रूप से शामिल किया जा सकता है।

राजनीतिक जीवन में अधिकतम बर्स्टनेस और परिप्रेक्ष्य से भरा हुआ एक लेख, समाज की समस्याओं और जरुरतों को बेहतरीन रूप से समझने में सहारा कर सकता है। यह एक स्थिति की सटीक विश्लेषण के साथ-साथ, सभी पक्षों की दृष्टिकोण से देखने की क्षमता प्रदान कर सकता है, जिससे समाधान की दिशा में सामर्थ्य मिल सकता है।

इस प्रकार के उदाहरण रहते हुए, हम देख सकते हैं कि राजनीतिक दृष्टिकोण को परिप्रेक्ष्य और बर्स्टनेस के साथ योजित करने से हमारे समाज को सशक्त, उत्कृष्ट और समृद्धिपूर्ण दिशा में आगे बढ़ावा मिल सकता है।

इस प्रेरणादायक माहौल में, युवा नेतृत्व को बढ़ावा देने का समय है जो समाज को सुनने और समझने का उत्साह लेकर आता है। एक सशक्त नेतृ, जो बुरा नहीं मानता, बल्कि समस्याओं को सही से देखने और समझने का प्रयास करता है, वही समाज को सुधारने में सक्षम होता है।

राजनीतिक दृष्टिकोण को अद्वितीयता से भरना, समस्याओं के समाधान के लिए नए और उद्दीपनवादी दृष्टिकोणों को शामिल करने का संकेत करता है। युवा नेता इस दृष्टिकोण को लेकर एक नया सागर खोल सकता है, जिससे राजनीतिक परिदृश्य को और भी रंगीन बनाया जा सकता है।

Read More  Haryana weather: हरियाणा के 12 जिलों में बारिश और तूफान का ऑरेंज अलर्ट, 10 जिलों में हीटवेव की चेतावनी -

इस उदाहरण में, यह भी स्पष्ट है कि राजनीतिक दृष्टिकोण बनाए रखना मात्र नेताओं की जिम्मेदारी नहीं होनी चाहिए, बल्कि समाज के हर व्यक्ति को इसमें सहभागी बनाए रखना भी अत्यंत महत्वपूर्ण है।

इसी तरह, एक उदार और संवेदनशील राजनीतिक समझदारी की बुनियाद पर यह सुनिश्चित हो सकता है कि आने वाली पीढ़ियों को एक समृद्धि भरे और उत्कृष्ट भविष्य की दिशा में प्रेरित किया जा रहा है। यही है एक ऐसा राजनीतिक परिदृश्य जो समृद्धि और समृद्धि के माध्यम से समाज को एक नई उच्चाई तक पहुँचा सकता है।

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button