Haryana News: हरियाणा में जो भी वित्त मंत्री रहा दोबारा जीतकर नहीं पहुंचा चंडीगढ़

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

Haryana News: प्रदेश में तीन दशक से बना है संयोग जो बनता है वित्त मंत्री दोबारा नहीं पहुंच पाता चंडीगढ़, इस बार के चुनाव परिणामों में भी यह संयोग कायम रहा है…

 

Haryana News: हरियाणा वित्त मंत्री सूची 

वर्ष 1991 में मांगेराम हरियाणा के वित्त मंत्री थे। वह वर्ष 1996 में हुए विधानसभा चुनाव में हार गए थे। इसके बाद वर्ष 1996 में हरियाणा की सत्ता संभालने वाली बंसीलाल सरकार सेठ श्रीकिशन दास हरियाणा के वित्त मंत्री बने लेकिन 2000 में हुए विधानसभा चुनाव में सेठ श्रीकिशन दास भी हार गए। इसके बाद वर्ष 2000 में संपत सिंह वित्त मंत्री बने,

 

लेकिन 2005 में हुए विधानसभा चुनाव में संपत्त सिंह भी चुनाव हार गए। इसके बाद हरियाणा में सत्ता संभालने वाली भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व कांग्रेस सरकार में चौधरी वीरेंद्र सिंह वित्त मंत्री बने, मगर 2009 में हुए विधानसभा चुनाव में वह भी चुनाव हार गए

 

Haryana News: सिंह हुड्डा ने दोबारा सरकार बनाई

वर्ष 2009 में हुए विधानसभा चुनाव में भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दोबारा सरकार बनाई और कैप्टन अजय सिंह यादव वित्त मंत्री बन गए। फिर 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में कैप्टन अजय सिंह यादव ने चुनाव तो लड़ा लेकिन हार गए। इसके बाद हरियाणा में सत्ता संभालने वाली मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार में कैप्टन अभिमन्यु हरियाणा के वित्त मंत्री बने। हाल ही में हुए चुनाव के दौरान कैप्टन अभिमन्यु भी हार गए हैं।

 

Haryana News: जो भी मंत्री कोठी नंबर 79 में रहा दोबारा नहीं जीता

Read More  Rajasthan Election Result 2024: कौंग्रेस के इस नेता ने चुनाव आयोग से दोबारा गिनती करने की मांग की.

राजनीति के गलियारों में यह महज संयोग है कि चंडीगढ़ के सैक्टर-सात स्थित कोठी नंबर 79 में रहने वाला कोई भी मंत्री अथवा नेता चुनाव नहीं जीतता है। हरियाणा के कई पूर्व मंत्रियों न केवल अपने अनुरूप इस कोठी में अमूल-चूल परिवर्तन करवाए बल्कि कई बार यहां हवन-यज्ञ का दौर भी चलता रहा। इसके बावजूद इस आवास की ग्रहदशा नहीं सुधरी। जिसकी उदाहरण इस बार भी देखने को मिली है।

 

Haryana News, यहां रहने वाले हरियाणा के पूर्व परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार चुनाव हार गए हैं। वर्ष 1982 में यह आवास तत्कालीन विधानसभा उपाध्यक्ष कुलबीर सिंह को अलाट की गई थी। वह अगली बार हुए चुनाव में हार गए। इसके बाद वर्ष 1987 में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज को यह आवास अलाट किया गया तो वह भी अगला चुनाव हार गई।

 

इसके बाद यह आवास वर्ष 1991 में करतार देवी, 1996 में बहादुर सिंह, 1999 में प्रो.रामबिलास शर्मा, 2005 में फूलचंद मुलाना को अलाट की गई और यह सभी नेता आगामी चुनाव हार गए।

 

Also Read : Arvind Kejriwal Arrest: शराब नीति घोटाले मामले में गिरफ्तार हुवे लोगों की सूची

 

Haryana News, वर्ष 2009 में चुनाव हारने के बाद पूर्व मंत्री फूलचंद मुलाना ने इस आवास में कई तरह के बदलाव करवाए। यहां तक की ग्रहदशा दूर करने के लिए उन्होंने यहां शिवलिंग तक स्थापित करवा दिया था। इसके बावजूद वह राजनीति में हाशिए पर ही रहे। इसके बाद मनोहर सरकार में यह आवास कृष्णलाल पंवार को अलाट किया गया। इस बार वह भी चुनाव हार गए हैं।

Read More  धारा 144: सिरसा में लगी धारा 144, अवहेलना करने वालों पर होगी कार्रवाई

 

Haryana News

चंडीगढ से इस वक्त की बड़ी खबर

Haryana News

Haryana News: मंत्रियों/राज्य मंत्री को बांटें गये विभाग

 

मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी

1. गृह

2. राजस्व एवं आपदा प्रबंधन

3. आबकारी एवं कराधान

4. युवा सशक्तिकरण एवं उद्यमिता

5. सूचना, जनसंपर्क, भाषा एवं संस्कृति

6. विदेशी सहयोग

7. न्याय प्रशासन

8. खान एवं भूविज्ञान

9. सामान्य प्रशासन

10. सीआईडी

11. कार्मिक एवं प्रशिक्षण

12. राजभवन मामले

13. विधि एवं विधायी

14. (कोई अन्य विभाग जो किसी अन्य मंत्री को आवंटित न हो)

 

कंवर पाल, मंत्री

1. कृषि एवं किसान कल्याण

2. पशुपालन एवं डेयरी

3. मत्स्य पालन

4. संसदीय मामले

5. आतिथ्य सत्कार

6. विरासत एवं पर्यटन

 

 

 

मूलचंद शर्मा, मंत्री

1. उद्योग एवं वाणिज्य

2.श्रम

3.खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले

4.चुनाव

 

रणजीत सिंह, मंत्री

1.बिजली

2.जेल

 

जय प्रकाश दलाल, मंत्री

1.वित्त विभाग

2.योजना

3.नगर एवं ग्राम नियोजन एवं शहरी संपदा

4.अभिलेखागार

 

 

डॉ. बनवारी लाल, मंत्री

1.पब्लिक हेल्थ

2.पी डब्ल्यू डी (भवन एवं सड़क)

3.वास्तुकला

 

डॉ. कमल गुप्ता, मंत्री

1.स्वास्थ्य

2.चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान

3.आयुष

4.नागरिक उड्डयन

 

 

श्रीमती. सीमा त्रिखा,

राज्य मंत्री

1.स्कूल शिक्षा

(स्वतंत्र प्रभार)

2.उच्च शिक्षा

(स्वतंत्र प्रभार)

 

महिपाल ढांडा,राज्य मंत्री

1.विकास एवं पंचायत

(स्वतंत्र प्रभार)

2.सहकारिता

(स्वतंत्र प्रभार)

 

 

असीम गोयल , राज्य मंत्री

1.परिवहन

(स्वतंत्र प्रभार)

2.महिला एवं बाल विकास

(स्वतंत्र प्रभार)

 

डॉ. अभय सिंह यादव, राज्य मंत्री

1.सिंचाई एवं जल संसाधन

(स्वतंत्र प्रभार)

2.सैनिक एवं अर्ध सैनिक कल्याण

(स्वतंत्र प्रभार)

 

 

सुभाष सुधा, राज्य मंत्री

1.शहरी स्थानीय निकाय

(स्वतंत्र प्रभार)

Read More  हिसार लोकसभा सीट हुई रिक्त, बृजेन्द्र सिंह का सांसद पद से त्यागपत्र मंजूर

2.सभी के लिए आवास

(स्वतंत्र प्रभार)

 

 

बिशम्बर सिंह, राज्य मंत्री

1.सामाजिक न्याय, अधिकारिता, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं अंत्योदय (सेवा)

(स्वतंत्र प्रभार)

 

2.मुद्रण एवं लेखन सामग्री

(स्वतंत्र प्रभार)

 

संजय सिंह, राज्य मंत्री

1.पर्यावरण, वन एवं वन्य जीव

(स्वतंत्र प्रभार)

 

2.खेल

(स्वतंत्र प्रभार)

 

बने रहे आप हमारी वेबसाइट Esmachar के साथ. आपको हरियाणा ही नहीं बल्कि सभी महत्वपूर्ण सूचनाओं से हम रूबरू कराने के लिए सबसे पहले तयार है. चाहे खबर कोई भी हो. सरकारी योजनाए, क्राइम, Breaking news, viral news, खेतीबाड़ी, स्वास्थ्य.. सभी जानकारियों से जुड़े रहने के लिए हमारे whatsapp ग्रुप को जॉइन जरूर करें.

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button