कांग्रेस लोकसभा चुनाव के मीडिया मैनेजमेंट में करने जा रही है बड़ा बदलाव!  

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

कांग्रेस पार्टी पहली बार अपने मीडिया स्ट्रेटजी में करेगी कई नए प्रयोग। बीजेपी के सेंट्रलाइज्ड मीडिया कैंपेन का जवाब कांग्रेस माइक्रो लेवल पर लोकलाइज्ड कैंपेन के जरिए देगी। पैन इंडिया की बजाय सेगमेंट वाइज होगा पार्टी का कैंपेन। हर सीट, जोन और हर आयु वर्ग को फोकस करके बनाया जा रहा है कैंपेन।

 

कांग्रेस अगले हफ्ते से अपना कैंपेन लॉन्च करेगी। पार्टी ने क्रिएटिव और मीडिया वैन, पब्लिसिटी मैटेरियल, होर्डिंग के लिए दो बड़ी कंपनियों को हायर किया है। क्रिएटिव के लिए “मुद्रा” और मीडिया वैन के लिए IPG को हायर किया गया है।

 

किसानों और नौजवानों के लिए कांग्रेस के कैंपेन में होगा महत्वपूर्ण जगह। राहुल गांधी के नारे जिसकी जितनी आबादी, उसकी उतनी भागेदारी के तर्ज पर कांग्रेस के मैनिफेस्टो को किया जा रहा है डिजाइन। 4 मार्च को है मैनिफेस्टो कमिटी की बैठक।

 

कांग्रेस कल से देश के हर मंडी में लगाने जा रही है बड़ी होर्डिंग। MSP की कानूनी गारंटी के नारे के साथ लगेगी होर्डिंग। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी की तस्वीर के साथ साथ सत्ता में आने पर MSP की कानूनी गारंटी का वादा होगा।

 

चुनावी कैंपेन को गति देने के लिए पार्टी ने देश भर 1 लाख BLA (Booth Level Agent) बना लिया है। जिसे अगले हफ्ते तक 2 लाख किया जायेगा। सेंट्रलाइज्ड वॉर रूम के साथ सभी राज्यों में स्टेट वॉर रूम को एक्टिवेट कर दिया गया है।

 

चुनावी रणनीतिकार सुनील कोनुगोलु ने 260 सीटों पर सर्वे रिपोर्ट कांग्रेस आलाकमान को सौंप दी है। इंडिया गठबंधन की सभी सहयोगी दलों के साथ ( सिवाय ममता ममता बनर्जी के तृणमूल को छोड़कर) सीट शेयरिंग पर बात आखरी दौर में है।

Read More  PM Modi Oath Ceremony: फिल्म स्टार शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी पर को कही बड़ी बात.. देखे viral video

 

तेजस्वी यादव के यात्रा में होने की वजह से आरजेडी के साथ कल से सीट शेयरिंग पर चर्चा होगी। लेकिन अनौपचारिक बात पहले हो चुकी है।

 

Also Read हरियाणा मुख्यमंत्री और ग्रह मंत्री की हत्या का व्हाट्सप्प SMS हुआ viral

 

Breaking news

रोहतक, गुरुग्राम से पंजाब के संगरुर में एक शादी समारोह में परिवार सहित सरीक होने जा रहे कारोबारी की मध्य रात्रि एक होटल पर गोली मारकर हत्या। वारदात में कारोबारी की मां भी घायल

गुरुग्राम के कारोबारी सचिन अपनी मां,पत्नी व दो बच्चों सहित जा रहा था

रोहतक जींद रोड पर लाखन माजरा के पास एक होटल पर खाना खाने के लिए रुका था

खाना खाने के बाद चलने के लिए जैसे ही गाड़ी में बैठने लगा तो कार सवार बदमाशों ने मारी गोलियां

बेटे को बचाने दौड़ी मां के पैर में गोली मारकर हत्यारे फरार

वारदात की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस

सचिन के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर और उसकी मां को पीजीआई रोहतक में दाखिल कराया।

 

Breaking news

उतरप्रदेश – सपा अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खनन घोटाले में सीबीआई के सम्मन पर बृहस्पतिवार को जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए। हालांकि उन्होंने सीबीआई को पत्र के जरिए जवाब भेजा है।

सूत्रों के मुताबिक उन्होंने सीबीआई को जांच में सहयोग करने का आश्वासन देने के साथ सवाल किया कि आखिर उन्हें चुनाव से पहले नोटिस क्यों भेजा गया? उन्होंने लखनऊ में अथवा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बयान दर्ज करने की बात लिखी है। सीबीआई को जवाब भेजने की पुष्टि अखिलेश ने खुद भी की है।

Read More  Viral news: ताबूत में बंद ममी का दुनिया को संदेश हुआ डिकोड

सूत्रों के मुताबिक अखिलेश ने सीबीआई को भेजे पत्र में सवाल उठाया कि उन्हें चुनाव से पहले नोटिस क्यों भेजा गया है। वर्ष 2019 के बाद पांच साल तक उनसे कोई जानकारी क्यों नहीं मांगी गई? सीबीआई आखिरकार उनसे इस मामले में क्या जानकारी हासिल करना चाहती है,जिसके लिए उन्हें बतौर गवाह बुलाया गया है।

राजधानी में मीडियाकर्मियों से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि सीबीआई का कागज आया था, मैंने जवाब भेज दिया गया है।पत्र में क्या लिखा है, यह आप लोग नोटिस भेजने वाले से पता कर लीजिए।लीक करने का काम हम नहीं,भाजपा करती है।उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इस समय सबसे ज्यादा कमजोर है।

वह संवैधानिक संस्थाओं का अपने प्रकोष्ठ की तरह प्रयोग कर रही है।बता दें कि सीबीआई ने अखिलेश यादव को बतौर गवाह बुलाया है,इसलिए वह लखनऊ में आकर पूछताछ कर सकती है। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बयान दर्ज होना मुश्किल माना जा रहा है।

जानकारों की मानें तो सीबीआई अखिलेश को 15 दिन बाद फिर से नोटिस देकर तलब कर सकती है।इसके बावजूद यदि वह दिल्ली जाकर जांच एजेंसी को अपना बयान नहीं देते हैं तो जांच अधिकारी लखनऊ आकर उनका बयान दर्ज कर सकता है।

उनके बयान में अगर सीबीआई को कोई नया तथ्य हाथ लगा तो इस मामले की जांच नया मोड़ ले सकती है। सूत्रों की मानें तो अखिलेश से खनन पट्टों के आवंटन को लेकर पंचम तल पर किए गये फैसलों के बारे में सवाल पूछे जाने हैं।

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button