कांग्रेस और उसके गठबंधन की नजर अब जनता की कमाई और संपत्ति पर: सुभाष बराला

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

देश के लोगों की संपत्ति और खजाना घुसपैठियों को बांटना चाहती है कांग्रेस: सुभाष बराला

कांग्रेस अपने पुराने तुष्टीकरण के एजेंडे पर आई : बराला

मोदी सरकार की साफ नियत,सतत प्रयास, सतत विकास : बराला

जींद। हरियाणा लोकसभा चुनाव प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद सुभाष बराला ने आज कांग्रेस पर जमकर प्रहार करते हुए कहा कि कांग्रेस विकास और जन कल्याण के एजेंडा को बदलकर अपने पुराने तुष्टीकरण के खेल पर आ रही है। कांग्रेस और उसके घमंडिया “इंडी गठबंधन” के लोग जिस प्रकार की भाषा बोल रहे हैं, उससे साफ है कि इन लोगों की नजर जनता के खजाने और उसकी संपत्ति पर है।

सुभाष बराला ने कहा कि नेहरू गांधी परिवार साम्राज्यवादी परंपरा को स्थापित करना चाहता है। उसे आम जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। उन्होंने कहा कि किसान और गरीब को किस प्रकार से मुख्य धारा में लाया जाए इस बात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिन-रात काम करते हैं,

लेकिन कांग्रेस इस बात को लेकर चुनाव घोषणा पत्र में कोई जिक्र करने के बजाय वह कहती है कि देश में बहुसंख्यक वाद की कोई जगह नहीं है।

बराला ने कहा कि कांग्रेस मानती है कि इस देश के संसाधनों पर अल्पसंख्यकों और विशेष कर मुसलमानों का पहला हक है। श्री बराला ने कहा कि तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली कांग्रेस को देश की जनता समाप्त कर देगी। राज्यसभा सांसद एवं हरियाणा भाजपा के पूर्व अध्यक्ष सुभाष बराला आज जिला भाजपा अध्यक्ष राजू मोर के आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर राजू मोर,भाजपा के जिला महामंत्री डॉ राज सैनी, प्रदेश प्रवक्ता राजबीर रोहिल्ला, जिला मीडिया प्रभारी बबलू गोयल भी मौजूद थे।

Read More  Haryana News: हरियाणा में इन जिलों में हुई इतनी वोटिंग

कांग्रेस जातीय व सांप्रदायिक वर्गीकरण कर रह देश को बांट रही

सुभाष बराला ने कहा कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस इस प्रकार की भाषा बोल रही है बल्कि कांग्रेस लंबे समय से इस पर काम कर रही है। राज्यसभा सांसद ने कहा कि भाजपा सरकार और भाजपा ने सभी के विकास की नीतियां बनाई, लेकिन कांग्रेस केवल एक वर्ग को खुश करने के लिए नीतियां बनाने की बात खुले आम कर रही है।

मोदी सरकार ने गरीबों को अनाज देने की योजना बनाई उसमें किसी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया गया। हर घर को नल से जल देने की योजना बनाई उसमें किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया गया। देश में सड़कों का जाल बिछाया गया वह भी सभी के लिए उपयोगी है, जबकि कांग्रेस जातीय व सांप्रदायिक वर्गीकरण करके सामूहिक व्यवस्था को तोड़ने का काम कर रही है।

कांग्रेस का घोषणा पत्र बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखे गए संविधान के खिलाफ

भाजपा सांसद सुभाष बराला ने कहा कि कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र में जो कहा गया है, वह बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखे गए संविधान के खिलाफ है।

संविधान में धर्म आधारित आरक्षण के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन कांग्रेस अनुसूचित जाति एवं जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के 50% आरक्षण को बदलकर मुसलमानों को 15% आरक्षण देने की वकालत कर रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा एक देश एक कानून एक व्यवस्था पर चल रही है, लेकिन कांग्रेस बीजेपी को सांप्रदायिक पार्टी बताकर खुद सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने का काम कर रही है।

Read More  Cyber Crime: फ्रॉड का नया तरीका, वॉइस क्लोनिंग के जरिए लोगों से पैसे वसूल रहे साइबर ठग

उन्होंने कहा कि भाजपा अभी तक केवल अपने 10 साल के कार्यों के आधार पर वोट मांग रही थी। हम कहीं भी नहीं चाहते थे कि चुनाव में कहीं से कोई धर्म की बात आए,

लेकिन कांग्रेस ने अपने चुनाव घोषणा पत्र में मुस्लिम समाज को 15% आरक्षण देने की घोषणा कर देश के अनुसूचित जाति एवं जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के हितों के खिलाफ चलने का फैसला किया तो भाजपा को संविधान के प्रति बड़ा खतरा महसूस हुआ क्योंकि इससे धर्मांतरण की होड़ लगेगी।

सुभाष बराला ने कहा कि जनता अब कांग्रेस के इस एजेंट को समझने लगी है। देश की जनता और हरियाणा की जनता इस पर बारीकी से गौर करेगी। एक प्रश्न के उत्तर में सुभाष बराला ने कहा कि हमें किसी बात का कोई डर नहीं है।

डर कांग्रेस को लग रहा है। वह आज तक अपने उम्मीदवारों की घोषणा तक नहीं कर पा रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं को नए-नए आईडिया देने का काम किया है और युवाओं को नई तकनीक से जोड़कर आगे बढ़ाने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि कई बार संकट का समय भी कुछ ऐसा दे जाता है जो कभी भुलाया नहीं जाता। कोरोना काल में जितना बड़ा संकट था, उतना ही वर्चुअल काम को बढ़ावा देने का काम किया और आज देश में वर्चुअल काम काफी चल रहा है।

पहले चरण में कई जगह कम मतदान किसके लिए नुकसानदायक है? इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि कम मतदान लोकतंत्र के लिए नुकसानदायक है।

Read More  अनिल विज का बड़ा ब्यान "लोकसभा चुनाव का नतीजा दीवार पर लिखी हुई इबारत है, कि अबकी बार 400 पार" 

उन्होंने लोगों से मतदान में भाग लेने के अपील करते हुए कहा कि मतदान हमारे अधिकार के साथ-साथ दायित्व भी है। उन्होंने कहा कि जनता के सामने सच्ची बात को लेकर जाना भाजपा का दायित्व बनता है।

देश में धर्म आधारित आरक्षण नहीं हो सकता और कांग्रेस के इस छिपे हुए घटिया एजेंडे को जनता के सामने रखना और कांग्रेस को रोकना हमारा परम कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश के हर व्यक्ति को सुरक्षित माहौल देने का काम किया है लेकिन भाजपा तुष्टिकरण की नीति के पक्ष में नहीं है।

भाजपा द्वारा पिछले दिनों लाए गए सिटिजन अमेंडमेंट बिल पर उन्होंने कहा कि हम इस बात को डंके की चोट पर कहते हैं कि इसे लागू करेंगे। यह बिल उन लोगों के लिए है, जो भारत का हिस्सा रहे देशों में असुरक्षित महसूस कर निकलकर भारत आए हैं और भारत में शरण मांगी है।

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button