मोदी की गारंटियां हो चुकीं है फेल: कुमारी सैलजा  

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

मोदी की गारंटियां: कहा कांग्रेस की जनसभाओं में पत्रकार आने लगे है, यह इस बात का संकेत है कि सरकार कांग्रेस की बन रही है

मोदी की गारंटियां: पहले तो दिन भी टीवी मोदी जी को ही दिखाया जाता था

सिरसा, 16 मई।

मोदी की गारंटियां: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव एवं सिरसा लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार कुमारी सैलजा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सारी गारंटियां फेल हो चुकी है।

मोदी की गारंटियां
मोदी की गारंटियां

 

उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस की जनसभाओं में मीडिया के लोग आने लगे है, यह इस बात का संकेत है कि आने वाली सरकार कांग्रेस की होगी। इससे पूर्व मीडिया केवल दिन भर मोदी जी को ही दिखाता था।

कुमारी सैलजा वीरवार को गांव पन्नीवाला मोटा में जनसभा को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि अब मोदी जी की गारंटियों से जनता का विश्वास उठ चुका है। उन्होंने कहा कि मुझे अच्छी तरह से याद है जब मैं पहली बार पूर्व मंत्री जगदीश नेहरा के इस गांव पन्नीवाला मोटा में आई थी तो गांव के लोगों ने नोटों से सजी चुनरी मुझे भेंट की थी। पूर्व मंत्री जगदीश नेहरा के गांव में आकर आज बहुत अच्छा लगा है।

मोदी की गारंटियां
मोदी की गारंटियां

 

कुमारी सैलजा ने कहा कि बीजेपी ने जाति व धर्म के नाम पर देश को बांटने का काम किया है। इसके उल्ट कांग्रेस ने हमेशा 36 बिरादरी को जोडने का काम किया है। हम भाईचारे को बढ़ावा देते है।

इसलिए अब फिर भाईचारे को कायम करने के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि बीजेपी के 10 साल के कार्यकाल में हर वर्ग दुखी हुआ है। कुमारी सैलजा ने कहा कि पिछले दस सालों में बीजेपी ने कोई विकास कार्य करवाए नहीं इस लिए अब चुनावों के दौरान विकास की बात न करके लोगों को बेतुकी बातों से भ्रमित कर रहे है।

Read More  Biggest Charpai: इतनी बड़ी चारपाई देख लोग हो रहे हैरान

उन्होंने कहा कि अब लोग सब समझ चुके है इसलिए बीजेपी के जुमले नहीं चलने वाले। कुमारी सैलजा ने कहा कि राहुल गांधी ने 10 हजार किलोमीटर की यात्रा के जरिए देश के हर कोने में रहने वाले व्यक्ति के दुख-दर्द को जाना, उसकी पीड़ा को समझा।

उसी हिसाब से कांग्रेस के घोषणा पत्र को न्याय पत्र नाम दिया, जिसमें 5 न्याय व 25 गारंटी जनता को देने का ऐलान किया गया है। कुमारी सैलजा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे देश में इस जुमले के होर्डिंग्स लगवा दिए हैं कि वह 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दे रहे हैं।

मोदी की गारंटियां
मोदी की गारंटियां

जबकि, हकीकत तो यह है कि यह राशन साल 2013 के राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रदान किया जाता है, जिसे डॉ. मनमोहन सिंह ने पारित किया था और उस वक्त नरेंद्र मोदी ने इसका विरोध किया था।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई), राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) की रीब्रांडिंग के अलावा कुछ और नहीं है। उन्होंने कहा कि आज जब आबादी 141 करोड़ है तो इसके तहत 95 करोड़ लोगों को सब्सिडी वाला राशन मिलना चाहिए, न कि सिर्फ 80 करोड़ लोगों को।

कुमारी सैलजा ने कहा कि 2021 में जनगणना कराने में मोदी सरकार की विफलता के कारण ही आज केवल 81 करोड़ लोगों को राशन मिल रहा है। 14 करोड़ और भारतीय कानूनी तौर पर राशन के हकदार हैं,

लेकिन मोदी सरकार की इस विफलता के कारण अपने अधिकारों से वंचित हो रहे हैं। कुमारी सैलजा ने कहा कि यह चुनाव व्यक्ति, जाति, धर्म का चुनाव नहीं है, यह सभी का चुनाव है। लोकतंत्र व संविधान बचाने का चुनाव है। किसी के फायदे या नुकसान का चुनाव नहीं है।

Read More  Amethi Seat Result: राहुल ने छोड़ी, पर कांग्रेस के किशोरी ने जीत ली अमेठी, जानें स्मृति को हारने वाले ये नेता हैं कौन?

मोदी ने साल 2014 में सत्ता हासिल करने से पहले कहा था कि हर व्यक्ति को 15 लाख देंगे, हर साल 2 करोड नौकरी, यानी 10 साल में 20 करोड़ देने को कहा था, पर किसी को कुछ नहीं मिला।

इसी प्रकार किसान की आमदनी दोगुनी करने को कहा था, पर आमदन आधी रह गई है। दलित व पिछड़ों की उन्नति के लिए काम करने की बात कही थी, पर इस पर भी कोई काम नहीं किया।

कुमारी सैलजा ने कहा कि मोदी व आरएसएस मिलकर देश का संविधान खत्म कर देंगे, लोकतंत्र की हत्या कर देंगे। इसलिए जनता ने चुनाव में इन्हें सबक सिखाने के लिए वोट के जरिए चोट करनी है। संविधान को बचाने के लिए, आने वाली पीढ़ियों के भविष्य की रक्षा के लिए, महंगाई से निजात पाने के लिए लोग कांग्रेस व इंडिया गठबंधन से उम्मीद लगाए हुए हैं,

इसलिए वे साथ भी खड़े हैं। इस इस अवसर पर हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामकिशन गुर्जर, विधायक शीशपाल केहरवाला, वरिष्ठ कांग्रेस नेता डॉ. केवी सिंह, पूर्व विधायक रणधीर सिंह धीरा,

हरिओम कौशिक, वरिष्ठ कांग्रेस नेता संदीप नेहरा, विनित कंबोज, विशाल वर्मा, डॉ. वाईके चौधरी, जसवंत कस्वां, बलविंद्र नेहरा, कृष्णा फौगाट, निर्मल सिंह मलड़ी, दलीप घोडवाली, बूटा सिंह थिंद, दुर्गा सिंह आदि उपस्थित थे।

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button