CIA कालांवाली द्वारा नशा तस्करों के खिलाफ कार्यवाही

Join WhatsApp Join Group
Like Facebook Page Like Page

CIA: 7 ग्राम हैरोईन (चिट्टा) के साथ गाडी स्वीफट डिजायर सहित दो युवक काबू

 

डबवाली मार्च 14 पुलिस अधीक्षक श्री सुमेर सिंह के दिशा-निर्देशानुसार तथा उप पुलिस अधीक्षक श्री गुरदयाल सिंह कालांवाली के कुशल नेतृत्व मे नशा तस्करों के खिलाफ चलाये जा रहे विशेष अभियान के अन्तर्गत कार्यवाही करते हुए पुलिस जिला डबवाली की CIA कालांवाली पुलिस टीम ने 7 ग्राम हैरोईन (चिट्टा) के साथ गाडी स्वीफट डिजायर नम्बर HR20AF-5362 सहित दो युवकों को काबू करने में सफलता हासिल की है जिनकी पहचान सन्दीप सिहं उर्फ काला पुत्र जगराज सिहं पुत्र नक्षत्र सिहं वासी गांव देसुजोधा वा गुरदीप सिहं पुत्र मुन्शी सिहं पुत्र टहल सिहं वासी वार्ड नम्बर 19 शिव नगर मंण्डी डबवाली के रूप मे हुई है ।

 

 

इस संम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए CIA कालांवाली प्रभारी सब इंस्पैक्टर राजपाल ने बताया कि CIA कालांवाली पुलिस टीम ASI कृष्ण के नेतृत्व मे बराये गस्त प़डताल अपराध व नशीले पदार्थो की रोकथाम के लिये बस स्टैण्ड डबवाली से अलिका रोङ पर गस्त करते हुए गांव अलिका की तरफ जा रहे थे.

 

जब नजदीक गुरद्वारा अलिका रोङ इन्द्रानगर डबवाली के पास पंहुचे तो रोड पर साईड में एक गाडी खडी दिखाई दी जो ASI व साथी कर्मचारीयो ने शक की बिनाह पर सरकारी गाडी को रोककर गाडी में बैठे व्याक्तियो को काबू करके राजपत्रित अधिकारी की हाजरी मे मुस्मीयान सन्दीप सिहं उर्फ काला व गुरदीप सिहं उक्त वा गाडी स्वीफट डिजायर नम्बर HR20AF-5362 की तलासी अमल मे लाई तो गाडी के गेर बाक्स के पास एक पारदर्शी पन्नी मे हैरोईन बरामद हुई।

Read More  Arvind Kejriwal Arrest: शराब नीति घोटाले मामले में गिरफ्तार हुवे लोगों की सूची

 

 

CIA, पकड़े गये आरोपीयान वा सप्लायर के खिलाफ थाना शहर डबवाली में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर जांच शुरु की गई है और पकड़े गए आरोपीयान को अदालत में पेश कर रिमांड लिया जाएगा औऱ रिमांड अवधि के दौरान पूछताछ कर हैरोईन (चिट्टा) तस्करी के इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों के बारे में नाम पता मालूम कर उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।

 

 

अननोन नंबर से आये वीडियो कॉल तो हो जाएं सावधान; नही उठाए कॉल : पुलिस अधीक्षक डबवाली

CIA
CIA

 

डबवाली मार्च, 14 साइबर ठगी की वारदातों से बचाने के लिए पुलिस द्वारा समय-समय पर जनहित में एडवाइजरी जारी कर लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है। आमजन से अपील है की जागरुक व सतर्क होकर साइबर ठगी की वारदातों से बचे।

 

 

पुलिस अधीक्षक डबवाली श्री सुमेर सिंह ने बताया कि अंजान नंबर से आया वीडियों कॉल आप पर भारी पड़ सकता है। उन्होंने बताया कि तकनीक के इस युग में हर कोई इंटरनेट की दुनिया में साइबर अपराधी ठगी के नए-नए तरीके अपना कर लोगों के साथ ठगी की वारदातों को अजाम दे रहे हैं। साइबर फॉड करने वालो ने लोगों को ब्लैकमेलिग करने का नया तरीका अपना लिया है।

 

साइबर अपराधी पहले अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल करते हैं। जिस नंबर से कॉल आता है, उसे अटेंड करने पर सामने न्यूड वीडियों चल रही होती है। कॉल रिसीव करते ही साइबर अपराधी न अपने मोबाइल फोन का स्क्रीन शॉट्स ले लेते हैं। इसमें कॉल करने वाले और कॉल रिसीव करने वाले न की तस्वीर कैद हो जाती है।

Read More  ModiCabinet: मोदी को हनुमान मानने वाला अंगद लेगा मिनिस्टर की शपथ,आखिर कोन है अंगद ?

 

Also Read: नायब सैनी की मुख्यमंत्री‌ पद पर नियुक्ति पूर्णतया कानूनी और संवैधानिक

 

तत्काल उस वीडियों को सामने वाले के पास भेजकर सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेलिग करना शुरू कर देते है। पीड़ित व्यक्ति अपने सम्मान और साख बचाने के चक्कर में पैसे दे देता है।

 

 

उन्होंने आमजन को इस प्रकार की साइबर ठगी से बचने की सलाह देते हुए कहा कि अगर किसी व्यक्ति के पास अज्ञात नंबर से किसी भी तरीके से वीडियो कॉल आता है, तो वह उसे अटेंड ना करें। अगर अटेंड कर भी ले तो पहले उसमें अपना चेहरा ना दिखाए। पहले सामने वाले को चेहरा देखे कोई परिचित है तो अपना चेहरा दिखाए नही तो फोन काट दे।

 

निम्न सावधानियां अपनाए

सोशल मीडिया अकाउंट के प्रोफाइल को हमेशा लॉक रखें व अपने फेसबुक प्रोफाईल पर प्राइवेसी सेटिंग लगा के रखें।

 

अंजान नम्बर से आई वीडियो कॉल को रिसीव ना करें। अगर कॉल रिसीव कर ली गई है तो मोबाइल का कैमरा फ्रंट की बजाय रियल मोड पर कर दें।

 

सोशल मीडिया अकाउंट (फेसबुक, इंस्टाग्राम) अन्य अकाऊंट में किसी अन्जान लड़की की भेजी हुई फेंड रिक्वेस्ट स्वीकार ना करें।

 

अगर आपकी वीडियो यूट्यूब पर अपलोड कर दी गई है तो उसकी रिपोर्ट कर दें ऐसा करने से यूट्यूब उस वीडियों को यूट्यूब से हटा देगी। – किसी भी अजनबी को अपने प्रोफाइल के बारे में पूरी जानकारी ना दें। अपनी पहचान या कोई एड्रेस भी ना दें और ना ही अपना पर्सलन मोबाइल नंबर शेयर करें।

Read More  Election 2024: बदायूं चुनाव में हार जीत को लेकर वकीलों ने लगाई 2–2 लाख रुपए की शर्त

 

 

अगर आपके साथ इस प्रकार का फाड हो जाता है तो आप अपने जिला की साईबर सैल या नजदीकी थाना में जाकर या नेशनल साईबर क्राईम रिपोर्टिंग पोर्टल (www.cybercrime.gov.in) पर या साइबर हेल्प लाइन नंबर 1930 पर शिकायत दर्ज करवाएं।

Raman

Ramandeep Singh village ramgarh sirsa (haryana)

Related Articles

One Comment

  1. Hello there,

    I have just verified your SEO on esmachar.com for the current search visibility and saw that your website could use a push.

    We will enhance your ranks organically and safely, using only state of the art AI and whitehat methods, while providing monthly reports and outstanding support.

    Interested, please hit reply!

    Kind Regards
    Demi Brooks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button